Politics

सीएम योगी के अयोध्या जाने पर कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों ने उठाए सवाल

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की है। हालांकि, बुधवार को नवरात्रि के पहले दिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुंचे। अयोध्या में भगवान रामलला को टेंट से हटाकर उनके अस्थायी मंदिर में रखा गया है। यह राम जन्मभूमि परिसर में मानस भवन के नजदीक बनाया गया है। राम मंदिर निर्माण पूरा होने तक भगवान रामलला यहीं पर रहेंगे। यूपी सीएम योगी के इस कदम पर कांग्रेस समेत कई अन्य पार्टियों ने सवाल उठाया है। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 35 पहुंच चुकी है।

यूपी कांग्रेस चीफ अजय कुमार लल्लू ने कहा, ‘नवरात्रि का पहला दिन है। मां के दरबार में दर्शन के लिए जाने की मेरी भी इच्छा है। हालांकि, मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की बात मानी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी बात नहीं मानते। भीड़ के साथ दर्शन कर रहे हैं तो ऐसे में कैसे यूपी की जनता पीएम की बात कैसे माने।

‘सीएम ने नहीं किया कुछ गलत’

योगी कैबिनेट में मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा , ‘रामलला को अस्थायी मंदिर में शिफ्ट किया जाना भी जरूरी था। यह कार्यक्रम पहले से तय था। बतौर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने कर्तव्य का निर्वहन किया है। मैं नहीं मानता कि उन्होंने कुछ भी गलत किया। वह तड़के वहां पहुंचे। उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन किया। इसके साथ ही सीएम योगी उत्तर प्रदेश की जनता को कोरोना वायरस से सुरक्षित रखने के लिए हर एक अहम निर्णय ले रहे हैं।’

‘पीएम के निर्देशों का पालन करना जरूरी’

समाजवादी पार्टी (एसपी) के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो भी निर्देश दिए हैं, उनका सभी को पालन करना चाहिए।’ इन सबके बीच अहम यह है कि भारत में अबतक इस घातक वायरस से संक्रमित लोगों के 536 मामले सामने आ चुके हैं जबकि उत्तर प्रदेश में यह आंकड़ा 35 पर पहुंचा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वायरस के बढ़ते दुष्प्रभाव को देखते हुए पूरे देश को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन कर दिया है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *