Lifestyle

लो-कैलोरी शुगर फ्री से नहीं होता है कोई साइड इफेक्ट्स, USFDA ने की पुष्टि

आज के समय में ज्यादातर लोगों का शेड्यूल काफी बिजी हो गया है. इस बीच वह अपने स्वास्थ्य का भी ठीक से ख्याल नहीं रख पा रहे हैं. ज्यादातर लोग अपनी डायट में ज्यादा कैलोरी और अत्यधिक मात्रा में शुगर कंटेन करने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन कर रहे हैं. जिससे आने वाले समय में उन्हें स्वास्थ्य से जुड़ी काफी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है. ऐसे समय में लो कैलोरी और शुगर फ्री डाइट से भविष्य में होने वाली दिक्कतों को रोका जा सकता है.

अपना रहे शुगर-फ्री जीवनशैली

शुगर-फ्री जीवन शैली स्वस्थ जीवन जीने की चाह रखने वालों के लिए एक लोकप्रिय प्रवृत्ति बन गई है. इसके साथ ही धीरे-धीरे लोग अधिक कैलोरी के प्रति सचेत हो रहे हैं और शुगर-फ्री जीवनशैली को अपना रहे हैं. ‘शुगर फ्री’ और अन्य कम कैलोरी वाले मिठास ने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक लोगों के आहार में अपनी जगह बना ली है.

स्वास्थ्य के लिए जरूरी शुगर-फ्री

न्यूनतम कैलोरी के साथ मिठास का स्वाद प्रदान करके, शुगर फ्री जैसे कम कैलोरी वाले मिठास ने अनगिनत लोगों को उनके स्वास्थ्य और फिटनेस के लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद की है. शुगर फ्री में उपयोग की जाने वाली प्रमुख सामग्री किसी भी स्वास्थ्य समस्या का कारण नहीं बनती है. शुगर फ्री सामाग्रियों पर हुए अध्ययन से पता चलता है कि यह वजन कम करने में भी सहायक है. जो भी व्यक्ति अपना वजन कम करना चाहता है और शुगर से परहेज कर रहा है वह किसी भी शुगर फ्री पदार्थ का इस्तमाल कर सकता है.

USFDA ने बताया सुरक्षित

मानव खाद्य आपूर्ति में सबसे अधिक अध्ययन किए गए पदार्थों में एस्पार्टेम शामिल है. इस पर हुए अभी तक के 100 से अधिक अध्ययन बताते हैं कि यह मानव स्वास्थ्य के लिए किसी भी तरह नुकसान दायक नहीं हैं. एफडीए के दो वैज्ञानिकों ने भोजन में एस्पार्टेम की सुरक्षा के संबंध में वैज्ञानिक आंकड़ों की समीक्षा की और निष्कर्ष निकाला कि यह कुछ स्थितियों में सामान्य आबादी के लिए सुरक्षित है.

110 से अधिक सुरक्षा अध्ययनों की समीक्षा 

यूएस खाद्य सुरक्षा प्राधिकरण (USFDA) ने सभी कम या बिना कैलोरी वाले मिठाई के उपयोग को मानवों के लिए विश्व स्तर पर खाद्य सुरक्षा अधिकारियों द्वारा पूरी तरह से सुरक्षित पाया है. इसके साथ ही सुक्रालोज़ का बड़े पैमाने पर अध्ययन किया गया है. इस अध्ययन में भोजन के लिए एक सामान्य स्वीटनर के रूप में सुक्रालोज़ के उपयोग को मंजूरी देने में एफडीए द्वारा 110 से अधिक सुरक्षा अध्ययनों की समीक्षा की गई थी. इससे पता चलता है कि शुगर फ्री जैसे उत्पादों का कोई दुष्प्रभाव नहीं है.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *