State

मेघालय सरकार ने शराब की होम डिलीवरी को दी मंजूरी

मेघालय सरकार ने स्वास्थ्य कारणों के मद्देनज़र शराब की होम डिलीवरी की अनुमति दे दी है। पंजीकृत डॉक्टरों की पर्ची के आधार पर ही इसे घर पर मुहैया कराया जाएगा। मेघालय के आबकारी आयुक्त बी सियामिह द्वारा लिखित पत्र में कहा गया है कि राज्य सरकार ने पंजीकृत चिकित्सकों द्वारा जारी चिकित्सा पर्चे के बदले सख्ती से स्वास्थ्य आधार पर शराब की होम डिलीवरी की मंजूरी दी है। अधिकृत गोदामों को 14 अप्रैल तक शराब की बिक्री और होम डिलीवरी की अनुमति दी गई है।

14 अप्रैल तक कोविड -19 के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए चल रहे 21-दिवसीय लॉकडाउन को समाप्त करने का समय निर्धारित है। राज्य से अब तक कोई कोविद -19 पॉजिटिव मामला सामने नहीं आया है। राज्य की एनआईसी विंग ने एक ऑनलाइन सिस्टम डिजाइन किया है जिसमें 21 वर्ष या उससे अधिक आयु के लोग अपने मेडिकल पर्चे अपलोड कर सकते हैं और अपने संबंधित जिले में अधिकृत गोदाम से शराब का ऑर्डर दे सकते हैं। गोदामों को डिलीवरी शुल्क के रूप में 15 किलोमीटर या उससे कम दूरी के लिए अधिकतम 100 रुपए देने होंगे। वहीं 15 किलोमीटर से अधिक दूरी के लिए 200 रुपये चार्ज करने की अनुमति दी गई है।

आबाकारी नियमों के अनुसार बांडेड वेयरहाउस शराब की खुदरा बिक्री नहीं कर सकते हैं। इसलिए जरुरतमंद ग्राहकों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए यह प्रबंध किया गया है। आबकारी विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग से विचार-विर्मश करने के बाद य़ह आदेश जारी किया गया है। स्वास्थ्य विभाग की अनुशंसा पर ही इसे लाया गया है।

इस सरकारी आदेश के बाद पंजीकृत डाक्टरों की डिमांड रातोंरात बढ़ गई है।लेकिन नशे की लत के रोगियों की समस्या हल करने वाले एक डॉक्टर ने बताया कि शराबी व्यक्तियों के लिए भी हम शराब के सेवन को प्रोत्साहित नहीं करते। इससे निकलने के लिए दवा का इस्तेमाल बताते हैं। गैर सरकारी संगठन के साथ काम करने वाले एक व्यक्ति ने कहा कि यह मेरे लिए नई बात है। वहीं एक अन्य युवक ने कहा कि जिसे भी चाहिए उन सभी के लिए डिलेवरी करनी चाहिए। किसी भी जरुरतमंद को आप छोड़ नहीं सकते।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *