Politics

बसपा विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने के मामले में विधानसभा अध्यक्ष को HC ने भेजा नोटिस

राजस्थान में छाये सियासी संकट के बीच बसपा विधायकों के कांगेस में विलय के मामले में बुधवार को हाई कोर्ट में सुनवाई के बाद विधानसभा स्पीकर को नोटिस जारी किया गया है. हाई कोर्ट ने स्पीकर को गुरुवार को सुबह तक जवाब देने के निर्देश दिये हैं. अब गुरुवार को सुबह 10:30 बजे फिर से इस पर सुनवाई होगी.

एकलपीठ ने 30 जुलाई को नोटिस जारी किए थे
हाई कोर्ट में इस मामले में बसपा और बीजेपी विधायक मदन दिलावर की ओर से दायर अपील पर मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत माहन्ती और जस्टिस प्रकाश गुप्ता की बैंच ने सुनवाई की. इस मामले में बसपा और दिलावर दोनों ने एकलपीठ के फैसले को चुनौती दे रखी है. पहले एकलपीठ ने इस मामले में सुनवाई के बाद 30 जुलाई को नोटिस जारी किए थे. लेकिन विलय के फैसले पर स्टे देने से इनकार कर दिया था.

इसलिये दी खंडपीठ में चुनौती
उल्लेखनीय है कि बीजेपी के विधायक मदन दिलावर और बहुजन समाज पार्टी ने मंगलवार को राजस्थान हाईकोर्ट की खंडपीठ के समक्ष याचिका दायर कर एकल पीठ के फैसले को चुनौती दी थी. एकलपीठ ने बसपा छोड़ने वाले सभी 6 विधायकों के कांग्रेस विधायक के तौर पर काम करने पर रोक लगाने से इंकार कर दिया था. इससे पहले मदन दिलावर और बसपा ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाकर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी के सितंबर 2019 के निर्णय को चुनौती दी थी, जिन्होंने उन्होंने बसपा के छह विधायकों को कांग्रेस में शामिल करने की अनुमति दे दी थी.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *