International

उत्तरी सीरिया में तुर्की के हमले में अबतक हुआ 3 लाख लोगों का विस्थापन

9 अक्टूबर को उत्तरी सीरिया में कुर्द बलों के खिलाफ तुर्की ने अपना लंबा खतरा वाला सैन्य अभियान शुरू किया। इस हमले के बाद अबतक 3 लाख लोग विस्थापित हो चुके हैं।सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के अनुसार, तुर्की समर्थित स्थानीय सीरियाई विद्रोहियों की मदद से तुर्की हमला, जिसमें 72 नागरिक मारे गए, साथ ही 416 कुर्द लड़ाकों और तुर्की समर्थित विद्रोहियों को भी छोड़ दिया गया।

9 अक्टूबर को, तुर्की और स्थानीय विद्रोही समूहों ने उत्तरी सीरिया में कुर्द बलों को खत्म करने के लिए हमला शुरू कर दिया, ताकि तुर्की अपनी दक्षिणी सीमा पर आतंकवादी और अलगाववादी समूहों के खतरे के रूप में मानता है और लाखों सीरियाई शरणार्थियों काकी मेजबानी के लिए एक सुरक्षित क्षेत्र को लागू कर सके।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, ब्रिटेन स्थित वॉचडॉग ने गुरुवार को कहा कि तुर्की की सेना और संबद्ध सीरियाई विद्रोहियों ने लगभग 70 क्षेत्रों पर कब्जा कर लिया और हसाका के उत्तरपूर्वी प्रांत में रास अल-ऐन शहर को घेर लिया।

तुर्की के हमले के साथ मिलकर उत्तरी सीरिया से अमेरिकी सेना की वापसी के साथ, कुर्द नेतृत्व वाले सीरियाई डेमोक्रेटिक बलों (एसडीएफ) के नियंत्रण वाले क्षेत्रों का नियंत्रण संभालने के माध्यम से सीरियाई सेना ने तुर्की को आक्रामक मुकाबला करने के लिए स्थानांतरित कर दिया है। सीरिया सरकार और कुर्द लड़ाकों के बीच रूसी-मध्यस्थता का सौदा।

सीरियाई सेना ने अब तक तुर्की के पास उत्तरपूर्वी अलेप्पो में मानबीज के प्रमुख शहर में तैनात किया है, साथ ही पूर्वोत्तर सीरिया में हासाका प्रांत में टाल ताम्र शहर और रक्का प्रांत के उत्तरी देश में आयोना शहर के आसपास के क्षेत्र में भी उनकी तैनाती है।

राज्य समाचार एजेंसी SANA ने बताया कि तुर्की अभियान ने सीरिया सरकार की अंतरराष्ट्रीय आलोचना और कड़ी निंदा की है। सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद ने गुरुवार को तुर्की के सैन्य हमले को सीरिया के खिलाफ ‘स्पष्ट आक्रमण और स्पष्ट आक्रामकता’ के रूप में नारा दिया।

Tags
Show More

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *