International

आज से अमेरिकी संसद के निचले सदन में ट्रंप के खिलाफ महाभियोग जांच की खुले में होगी सुनवाई

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग जांच में आज से खुली सुनवाई होने जा रही है। अमेरिकी संसद के निचले सदन(हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स) में बुधवार और शुक्रवार के दिन महाभियोग मामले की जांच की खुले में सुनवाई होगी, जिसे टीवी पर पूरा अमेरिका देखेगा यानि ट्रंप के महाभियोग जांच में गवाहों का एक-एक बयान जनता के सामने होगा।

कैसे होगी सुनवाई ?

यह सुनवाई संसद के निचले सदन(हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स) में होगी। यह सुनवाई खुले में होगी। इससे पहले इसी सदन में 24 सितंबर से महाभियोग मामले में ही बंद कमरे में सुनवाई चल रही थी। अब यह सुनवाई बंद कमरे से निकलकर खुले मंच पर(जनता के सामने) पहुंच गई है। जांच में शामिल हाउस ऑफ इंटेलिजेंस कमेटी के चेयरमैन एडम शिफ का कहना है कि महाभियोग जांच की खुले में सुनवाई होने से लोगों को गवाहों और उनके बयानों को सुनकर उसका मूल्यांकन करने का मौका मिलेगा।

इससे पहले कहां हुई सुनवाई ?

बता दें, इससे पहले महाभियोग मामले में संसद के निचले संदन(हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स) में ही बंद कमरे में सुनवाई चल रही थी। लेकिन बंद कमरे में सुनवाई के करीब 6 हफ्ते बाद इस मामले की बुधवार को खुली सुनवाई शुरू होगी।

कितने घंटे होगी सुनवाई ?

बुधवार से शुरू होने वाली सुनवाई डेढ़ घंटे चलेगी। इसमें हाउस ऑफ इंटेलिजेंस कमेटी के चेयरमैन एडम शिफ और एक वरिष्ठ सदस्य रिपब्लिकन डेविन नंस  को 45-45 मिनट का समय दिया जाएगा। इस दौरान वह गवाहों से महाभियोग जांच में पूछताछ करेंगे। इसके अलावा कुछ समय वह अपने वकीलों को भी दे सकते हैं।

किन गवाहों से होगी पूछताछ ?

बंद कमरे में हुई पूछताछ में कुछ गवाहों ने सनसनीखेज खुलासे किए हैं, जो काफी चौंकाने वाले हैं। अब गवाहों के इसी बयान को अमेरिकी जनता के सामने लाने की कोशिश होगी। इन गवाहों में यूक्रेन में अमेरिकी के शीर्ष राजदूत विलियम टेलर, डिप्टी असिस्टेंट राज्य सेक्रेटरी जॉर्ज केंट के साथ ही यूक्रेन में पूर्व अमेरिकी राजदूत मैरी योवानोविच शामिल हैं। इन सभी गवाहों से बारी-बारी से पूछताछ की जाएगी। महाभियोग जांच की खुले में सुनवाई का उद्देश्य राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ साक्ष्यों को और अधिक मजबूत करना है।

पहले दिन इन गवाहों से होगी पूछताछ

बुधवार से शुरू होने वाली सुनवाई में महाभियोग मामले में  महत्वपूर्ण गवाहों, अमेरिका के दो वरिष्ठ राजनयिक रहे बिल टेलर और जॉर्ज केंट से पूछताछ होगी। जबकि यूक्रेन में पूर्व अमेरिकी राजदूत रहीं मैरी योवानोविच की गवाही होगी। बता दें, टेलर और मैरी ने बंद कमरे में हुई सुनवाई में ट्रंप के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए थे।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *