Entertainment

अक्षय कुमार के साथ काम कर चुकी एक्ट्रेस ने नेपोटिज्म को लेकर किया बड़ा खुलासा, मेरे सांवले रंग का मज़ाक उड़ाते थे अक्षय

बॉलीवुड में इस समय नेपोटिज्म को लेकर बहस तेज हो गई है. हर कोई इसी के बारे में बात कर रहा है. ऐसे में अब नेपोटिज्म को लेकर अक्षय कुमार की डेब्यू फिल्म सौगंध की एक्ट्रेस शांतिप्रिया ने चौकाने वाला खुलासा किया है. उन्होंने कहा, ‘मैं अपनी स्किन के कलर से मैच करते हुए स्टॉकिंग्स पहनती थी और अक्षय पूरी यूनिट के सामने मेरे सांवले रंग का मज़ाक उड़ाते थे.’ इसके अलावा शांतिप्रिया ने यह भी बताया कि ‘मैं घर जाकर बहुत रोई. अपनी मां से लिपटकर रोती रहती थी. धीरे धीरे मेरा कॉन्फिडेंस टूट गया था और मैं डिप्रेशन में चली गई थी. उन्होंने कहा कि हम लोग मज़ाक करते समय ये कभी नहीं सोचते कि उसका सामने वाले पर क्या असर पड़ सकता है.’

उन्होंने कहा कि उन्हें अजय देवगन की एक फिल्म से निकाल दिया गया था क्योंकि किसी को अजय देवगन के साथ काले रंग की हीरोइन नहीं चाहिए थी. एक वेब साइट को दिए इंटरव्यू में शांतिप्रिया ने अक्षय के साथ जुड़े एक किस्से के बारे में बताया. आपको बता दें कि सौगंध में डेब्यू करने के बाद अक्षय कुमार काफी मशहूर हो गए थे और वो शांतिप्रिया के साथ इक्के पे इक्का नाम की फिल्म कर रहे थे. इस फिल्म में शांतिप्रिया का कैरेक्टर मॉडर्न था इसलिए उन्हें शॉर्ट ड्रेस पहननी थी और उन्होंने अपने रंग के मैचिंग स्टॉकिंग्स पहने जिससे उनके घुटने कुछ ज़्यादा ही काले दिखाई दे रहे थे. इसी घटना को याद करते हुए शांतिप्रिया ने हाल ही में कहा, ‘अक्षय शूटिंग के दौरान ही चिल्लाने लगे कि शांतिप्रिया के पैरों पर बड़े बड़े क्लॉट्स हैं. साथ ही उन्होंने सबको मेरे पैर दिखाए और बार बार ये बात मज़ाक में करते रहे.’ इसके अलावा शांतिप्रिया ने बताया कि ‘सेट पर पंकज धीर, चांदनी, पृथ्वी, राज सिप्पी, स्पॉट दादा, मेकअप मैन और कई सारे लोग थे. लेकिन अक्षय ने किसी का लिहाज़ नहीं किया और उनका ये मज़ाक काफी समय तक चलता रहा.’

उन्होंने कहा, ‘अक्षय के इस मज़ाक से मैं बहुत ही ज़्यादा असहज हो गई थीं. बाद में घर जाकर मैं अपनी मां के पास बैठकर खूब रोईं. उसके बाद मैं डिप्रेशन में चली गई थीं और मेरा कॉन्फिडेंस टूट गया था. लेकिन मैंने गोरे होने की क्रीम कभी नहीं लगाई.’ उनके अनुसार, ‘इन सब बातों को बताकर मैं अक्षय कुमार की शिकायत नहीं कर रही हैं. लेकिन हां ये बताना चाह रही हूँ कि इस तरह की सोच और इस तरह का मज़ाक कितनी दिक्कत भरी बात है और ये किसी के मन – मस्तिष्क पर कितना गहरा असर छोड़ सकता है.’ हाल ही में शांतिप्रिया ने यह भी कहा कि, ‘अब अक्षय काफी ज़्यादा बदल चुके हैं. अब वो एक ज़िम्मेदार नागरिक हैं. अच्छे पति हैं, पिता हैं, देश के लिए कितना कुछ करते हैं, जवानों के लिए कितना कुछ करते हैं. तब दिन ही ऐसे थे कि हम दोनों ही ज़्यादा समझदार नहीं थे.’

 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *